Thursday, March 23, 2017

मारुति मजदूरों को मिले हजारों साथी

आज भगत सिंह और साथियों के शहादत दिवस पर मारूति मजदूरों के समर्थन में कई हज़ारों मज़दूरों ने अपने अपने प्लांटों से रैली निकालते हुए IMT मानेसर में सामूहिक जुलुस करते हुए ताऊ देवीलाल पार्क में विशाल जन सभा में हिस्सा लिया। 13 साथियो को अदालत द्वारा उम्रकैद दिए जाने के फ़ैसले के ख़िलाफ़ नीमराणा से लेकर गुड़गांव तक के मज़दूर अपनी यूनियनों के साथ जिस जोश और ऊर्जा के साथ इस रैली और सभा में शामिल हुए वो इस औद्योगिक क्षेत्र में सामूहिक पहल की नयी इबारत लिखता है। इस जुलूस की रोकने के लिए मानेसर पुलिस ने इलाके में 26 तारीख़ तक धारा 144 लगा दी थी जिसे तोड़ते हुए मजदूरों ने ये रैली की। प्रशासन ने इलाक़े में भारी पुलिस बल तैनात कर रखा था। गौर तलब है कि 2012 के घटनाक्रम के बाद मज़दूर इस बेल्ट में कोई रैली, जुलुस या सभा करने से पीछे हटते दिखते थे। मगर आज मारुति सुजुकी मज़दूर संघ की अगुवाई में जिस प्रकार की सामूहिक पहल इस प्रतिवाद जुलुस की शक्ल में दिखी वो वाक़ई मजदूरों को संघर्ष के लिए नयी राह दिखाता है। मजदूरों ने दिखा दिया वो कोर्ट के फ़ैसले से नहीं डरते और प्रशासनिक दमन का जवाब देने में सक्षम है। मज़दूरों ने यहां तक कहा कि अगर प्लांट बंद करना हो तो कर देंगे लेकिन झुकेंगे नहीं, रुकेंगे नहीं। जुलुस से लेकर सभा तक करीब 40 से ज्यादा यूनियने शामिल हुई। आगामी 4 अप्रैल को अखिल भारतीय विरोध प्रदर्शन करने की घोषणा हुई। इसके अलावा जेल में बंद साथियों और उनके परिवार की आर्थिक मदद की भी पहल ली गयी।

No comments:

Post a Comment